3 प्रेरणादायक कहानिया,,Best Motivational story in hindi

Motivational story in hindi-नमस्कार दोस्तों आप सभी का एक बार फिर से हमारे ब्लॉग techrealjankari.com में बहुत-बहुत स्वागत है आज मै आप सभी के साथ तीन प्रेरणा दायक कहानिया शेयर कर रहा हु जो की आप को हमेसा मोटीवेट रखने में बहुत मदद करेगी तो आप सभी इन कहानियो को पूरी जरुर पढ़े क्योकि ये कहानिया लिखने में हमने बहुत ही मेहनत की है इसलिए अगर आप इन्हें पूरा पढ़ेंगे तो हमे बहुत खुशी होगी

1.जिंदगी में रिस्क लेना कितना जरूरी होता है

एक बात तो आप सभी जानते ही है होंगे की जिंदगी में कुछ पाने के लिए कभी ना कभी तो हमे रिस्क लेना ही पड़ता है चाहे वो बिजनेस की बात हो या फिर कोई अन्य स्थिति हो क्योकि दोस्तों हम किसी भी बिजनेस की शुरुआत करना चाहे तो हमे ये तो पता नही होता है की हमारा बिजनेस सफल होगा या नही यानि की शुरुआत में एक रिस्क ही लेते है और यदि हम उसमे सफल हुए तो हम एक अच्छे बिजनेस में बन जायेंगे लेकिन अगर आप उसमे असफल भी हुए ना तो आप उससे कुछ ना कुछ जरुर सीखेंगे और आप जिस गलती की वजह से अपने बिजनेस में असफल हुए है आप उस गलती को दुबारा नही दोहराएंगे और अगली बार उस बिजनेस में जरुर सफल होंगे इसके लिए में आपके साथ एक कहानी शेयर करता हु जिसे आप एक बार ध्यान से समझना

एक बार एक जंगल में एक गाव था और उस गाव के पास में ही एक बहुत ही प्राचीन और विशाल महल था लेकिन उस गाव के लोगो में एक बहुत ही गलत अफवाह फेली हुयी थी की उस प्राचीन महल में भूत निवास करते है और जो भी उस महल के अंदर जायेगा वो कभी भी वापस लोट के नही आता है इस कारण उस गाव के लोग उस महल के आसपास भी नही जाते थे लेकिन  एक दिन क्या हुवा की उस गाव में एक युवा लड़का दुसरे गाव से आया हुवा था तो उसने उस  गाव के लोगो से  उस महल के बारे में पूछा तो सभी ने उस महल के बारे में बहुत सारी  कहानिया सुनाई लेकिन उस युवा लडके ने उन सभी की बाते सुनने के बाद उनसे बोला की मुझे  इस महल के अंदर जाना है और देखना है की आप सभी सच बोल रहे हो या जुट और वह लड़का उस महल के अंदर जाने की बात करने लगा तो उस गाव के सभी लोगो ने उस लडके को जाने से रोकने की कोसीस की लेकिन उसने किसी की बात नही सुनी और वह उस महल के अंदर चला गया जब वह महल के अंदर गया तो उस महल में बहुत ही ज्यादा अँधेरा था लेकिन वह युवा लड़का बिना डरे उस महल में आगे की और बढ़ता गया लेकिन जब वह उस महल में आगे की और बढ़ा तो उसने देखा की उस गाव से जो भी व्यक्ति उस महल में आये थे वो सभी उस महल के अंदर बड़े ही आराम से रह रहे थे और उन सभी ने उस युवा लडके का बहुत धूम धाम से स्वागत किया है और उसे बताया की इस महल में हमे जो सुख सुविधाए मिली है वो दुनिया में किसी भी जगह में नही मिल सकती है इसलिए वो सभी जब उस महल में आये तो वो उस महल को छोडकर कभी बहार नही गये और इस कारण उस गाव के सभी लोगो में एक ही डर बढ़ता गया की इस महल में सच में ही भूत होते है और जब वह युवा लड़का भी उस महल से बहार नही गया तो उनका डर और भी बढ़ता गया और आज अब उस गाव का कोई भी व्यक्ति उस महल के आसपास भी नही जाना चाहता है

अब दोस्तों आप ही सोचिये की आपको अपनी लाइफ में किस की तरह बनना चाहिए उस युवा लडके की तरह जो की रिस्क लेना जानता है या फिर उन गाव वालो की तरह जो बस उस महल के बारे में गलत बारे ये सोच कर कभी उसके पास नही जाते की इसमें भूत है यानि की रिस्क नही लेना चाहते है !

2.आत्मविश्वास कितना जरूरी होता है

हमारे अंदर आत्म विस्वास का होना कितना जरूरी होता है इसको समझाने के लिए में आपके साथ एक छोटी  सी कहानी शेयर करता हु –
एक बार एक शियार जंगल में खाने की तलास में इदर-उदर गूम रहा था क्योकि उस समय बहुत भूखा था और हम सभी ये तो जानते ही है की भूख लगती है तो सभी प्राणियों को भोजन  की बहुत जरुर पडती है इस कारण वो शियार जंगल में इदर उदर भाग रहा था लेकिन उसे कुछ नही मिला इस कारण वह बहुत निरास हो जाता है लेकिन वह फिर भी तलाश जारी रखता है और उसकी मेहनत  काम आती है और उसे एक हड्डी मिल जाती है जब वह उस हड्डी को खाने बेठता है तो उसे सामने से एक शेर आते हुए दिख जाता है जब उसने शेर को देखा तो वह पहले बहुत ही डर गया की अब तो शेर मुझे खा जाएगा लेकिन उसने अपना दिमाग लगाया और जैसे ही शेर उसके पास पहुचने लगा तो वह शेर की तरफ पीठ करके बेथ जाता है और उस हड्डी को चबाते हुए कहने लगा की खास मुझे ऐसा ही एक और शेर मिल जाए तो मजा आजायेगा जब शेर ने उसकी बात सुनी तो उसने सोचा की इस शियार ने मेरे से पहले ही किसी शेर को मार डाला है और उसको खा गया और यदि में इसके पास गया तो ये मुझे भी खा सकता है और फिर  शेर वहा से भाग जाता है ! लेकिन वही पेड़ पर बेठा बंदर शियार का प्लान समझ गया और उसने सोचा की अगर में इस शियार की बात शेर को बता दू की इसने आपको धोका दिया है तो शेर से मेरी दोस्ती भी हो जायेगी और वह इस शियार को भी मार देगा तो इतना विचार करने के बाद बंदर शेर के पास जाकर शियार का सारा प्लान बता देता है और शेर वापस उस शियार को मारने के लिए आ जाता है और जब इस बात का पता शियार को लगता है की बंदर ने शेर को उसका सारा प्लान बता दिया है और शेर अब मुझे मार देगा और वह पहले बहुत डर गया लेकिन उसने फिर भी अपना आत्म विश्वास बनाये रखा और उसने तुरंत एक और नया प्लान बना लिया और जब शेर उसके पास पहुचने लगा तो वह जोर-जोर से कहने लगा की ये बंदर भी कितना कामचोर है कितनी देर बाद आया है और वो भी मात्र एक शेर ही लेकर आया है जब शेर ने शियार की बात को सुना तो वो सोचने लगा की ये बंदर भी इसके साथ ही मिला हुवा है और ये भी मुझे मरवाना ही चाहता है इतना सोच कर शेर वह से भाग जाता है और शियार बहुत खुश होता है और अपने निवास स्थान में आराम से चला जाता है !
दोस्तों इस कहानी में आपने देखा की एक शियार के सामने कितनी समस्याए आती है लेकिन वो अपने आत्म विश्वास से अपनी साड़ी समस्याओ का हल ढूढ लेता है दोस्तों हमारे लाइफ में भी ऐसा ही होता है जब हम किसी समस्या से गुजर रहे होते है तो एक और समस्या आ जाती जिस कारण हम बहुत परेशान हो जाते ऐसी स्थिति में हम सबसे बड़ी गलती ये करते है  हम हमेशा उस समस्या के बारे में सोचते रहते है जिस कारण हम उसका कभी हल नही खोज पाते है यदि हम उस समस्या की बजाए उसके समाधान के बारे में सोचेंगे तो हम बड़ी ही आसानी से उस समस्या का समाधान कर सकते है और अपनी लाइफ को खुश रह कर जी सकते है !

3.सफल होना है तो बहरे बन जावो

दोस्तों आप सोच रहे होंगे की ये क्या कहने वाला ही की बहरे बन जावो दोस्तों इसका मतलब में ये नही कहने वाला हु की आप बिलकुल कुछ  भी सुनो ही मत दोस्तों यहाँ मेरे कहने का मतलब समझाने से पहले में आप लोगो के साथ एक छोटी सी कहानी शेयर करता हु उसके बाद इसका मतलब समझाऊंगा तो आप इस कहानी को घोर से पढना और इसका भाव समझने की कोसिस करना तभी आप सही अर्थ को समझ पावोगे-

एक जंगल में एक बहुत ही विशाल नदी थी और उस नदी बहुत सारे मेंढक रहते थे और उसी नदी के पास एक विशाल पेड़ था जिसे वो सभी मेंढक रोजाना देखा करते थे और उसके बारे में सोचते थे रहते थे की ये पेड़ कितना विशाल है एक दिन सभी मेंढको ने मिल कर एक दिन पेड़ पर चढने की प्रतियोगिता रखी और इसमें शर्त ये थी की जो भी ये पहले इस पेड़ के शीर्ष तक जाएगा वही विजेता होगा जब सभी मेंढको ने उस पेड़ पर चढना शुरू किया तो वो आधे भाग पर पहुचते और वापस निचे गिर जाते कुछ और उपर पहुचे और वापस गिर गये लेकिन एक मेंढक उपर की और चढ़ता ही जा रहा था और बाकि सभी मेंढको ने प्रयास करना छोड़ दिया और उसे भी जोर-जोर से कहने लगे की निचे उतर जावो नही तो गिर जावोगे  ये पेड़ बहुत विशाल है लेकिन वह मेंढक उपर चढ़ता गया और आखिर कर वह उस पेड़ के शीर्ष भाग पर पहुच जाता है पता है वो मेंढक उस पेड़ के ऊपर क्यों पहुचा और उसने उन सब की बात क्यों नही सुनी क्युकी वह मेंढक बहरा था और जब वो जोर-जोर से चिला रहे थे की निचे उतर जावो तो वो समझ रहा था की ये मुझे उतशाह दे रहे हे की चढ़ जा ,चढ़ जा तुम चढ़ जावोगे इस तरह से वह उपर पहुच जाता है और उस प्रतियोगिता का विजेता बन जाता है !

दोस्तों ऐसा ही हमारी लाइफ में होता है जब भी हम कोई नया काम करने की सोचते है और उसके बारे में जब लोगो से बातचित  करते है तो हमे सभी से अलग-अलग सुझाव मिलते है जिस कारण हम या तो उस काम के बारे में सोचना ही छोड़ देते है या फिर हम उस काम को करते भी है तो भी पुरे दिल से नही कर पाते है जिस कारण हमे निराशा ही हाथ लगती है यहाँ पर दोस्तों में आपको ये भी नही कह रहा हु की आप अपने लक्ष्य या काम के बारे में किसी से बात मत करो,करो लेकीन उनसे ही जो आपको सच में एक सफल व्यक्ति बनता देख कर खुश होना चाहते उनसे नही जिनको आपकी सफलता देख कर जलन होती है !
अंतिम शब्द
उम्मीद करता हु दोस्तों आप सभी को मेरी ये पोस्ट बहुत ही पसंद आई होगी अगर आपको ये पोस्ट पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर जरुर करना और मुझे कमेंट करके जरुर बताना की आपको ये पोस्ट कैसी लगी है !
आप सभी ने हमारे इस पोस्ट को पढने के लिए अपना कीमती समय दिया उसके लिए मै आप सभी का दिल से धन्यवाद करता हु !*हँसते रहो ,मुस्कराते रहो*